Saturday, 25 March 2017

गांव टट्टियाकर में आपका स्वागत है


-दीपक दुआ...

दिल्ली से चल कर हम हरियाणा के सिरसा में डेरा सच्चा सौदा पहुंचे तो पश्चिम की तरफ जाता सूरज अपनी चमक समेटने लगा था। हमें बताया गया था कि संत गुरमीत राम रहीम सिंह की पिछली फिल्म हिन्द का नापाक को जवाब-एमएसजी लायन हार्ट 2’ की बंपर कामयाबी का जश्न मनाया जाएगा। लेकिन यहां तो कुछ और ही नजारा था। एमएसजी बाबा के चाहने वालों की भारी भीड़ मौजूद थी और नाच-गाना चल रहा था। दरअसल यह मौका था बाबा की अगली फिल्म जट्टू इंजीनियरके मुहूर्त्त का। बाबा ने दीये जला कर और नारियल फोड़ कर फिल्म की शुरूआत की और बताया कि यह एक कॉमेडी फिल्म होगी जिसमें एक ऐसे गांव की कहानी दिखाई जाएगी जहां के बाशिंदे सफाई, शिक्षा, मेहनत आदि से परे और गंदगी, नशे, लड़ाई-झगड़े जैसी बुराइयों में जकड़े हुए हैं। फिर यहां के स्कूल में एक टीचर आता है और कैसे वह इस गांव और यहां के वासियों का कायापलट करता है, यह इसमें दिखाया जाएगा।

बाबा ने बताया कि इस फिल्म में उनका डबल रोल होगा। एक किरदार में वह टीचर बने दिखाई देंगे और दूसरे में जुगाड़ में माहिर जट्टू इंजीनियर। इस फिल्म का निर्देशन भी उनकी पिछली फिल्म की तरह बाबा और उनकी बेटी हनीप्रीत कर रहे हैं। इसके बाद फिल्म की सफलता की कामना के लिए ढेरों गुब्बारे भी आसमान में छोड़े गए।

अगले दिन सुबह हम इस फिल्म के सैट पर पहुंचे तो वहां लगे गांव का नाम पढ़ कर ही हमारी हंसी छूट गई। एक टूटे-फूटे बोर्ड पर लिखा था-गांव टट्टियाकर में आपका स्वागत है। हमें बताया गया कि महीने भर पहले तक यहां एक मैदान था जहां चारदीवार बना कर इस लंबे-चैड़े गांव का सैट तैयार किया गया है। चारों तरफ कच्चे मकान, पंचायत घर, स्कूल, इधर-उधर घूमते जानवर, ढेरों लोग और हर तरफ गंदगी का आलम। इस कदर वास्तविक लगते इस सैट पर मोबाइल फोन और कैमरा लाने की सख्त पाबंदी थी।  

यहां शूटिंग में व्यस्त बाबा ने बताया कि यहां जितने भी लोग हैं उनमें से कोई भी प्रोफेशनल कलाकार नहीं है लेकिन हर कोई अपने काम को पूरे समर्पण से कर रहा है और हमें यकीन है कि जब यह फिल्म बन कर आएगी तो लोगों को हंसाने के साथ-साथ समाज को कई सारे सकारात्मक संदेश दे पाने में भी सफल होगी।
(यह रिपोर्ट 25 मार्च, 2017 के हरिभूमिमें प्रकाशित हुई है)

No comments:

Post a comment