Sunday, 13 November 2016

हर्ष मयार-‘आई एम कलाम’ से ‘आधा फुल’ तक


-दीपक दुआ...
 
2011 में आई फिल्म आई एम कलाममें खुद को कलाम कहने वाला छोटू अब बड़ा हो चुका है। इस फिल्म में अपनी उम्दा अदाकारी के लिए सर्वश्रेष्ठ बाल-कलाकार का राष्ट्रीय पुरस्कार पाने वाले हर्ष मयार ने इसके बाद जलपरीऔर चार फुटिया छोकरेजैसी फिल्में भी कीं। अब वह दूरदर्शन पर हर शुक्रवार, शनिवार और रविवार शाम 7.30 बजे आ रहे शो आधा फुलमें दिखाई दे रहे हैं। यूनिसेफ के सहयोग से इस शो को बी.बी.सी. मीडिया ने बनाया है। दिल्ली में इस शो की लांच-पार्टी में हर्ष से ये फटाफट बातें हुई थीं जो 13 नवंबर के हरिभूमि में छपी हैं...

-‘आधा फुलक्या है? 
-यह दरअसल तीन लोगों का एक गैंग है जिसमें किट्टी, तारा और अदरक हैं। ये तीनों बदली पुर में रहते हैं और मिल कर अपने एरिया के केस सुलझाते हैं। यह कुल 78 एपिसोड का शो है जिसमें हर एपिसोड में एक अलग कहानी या एक अलग केस दिखाया जाएगा।


-आप इसमें क्या किरदार निभा रहे हैं?
- मैं इसमें अदरक का किरदार निभा रहा हूं। अदरक अनाथ है और एक ब्यूटी पार्लर में काम करता है। उसके पास हर चीज का जुगाड़ है। कोई भी प्राॅब्लम हो, उसे पता है कि उसमें से कैसे निकलना है। अपने देसी स्टाइल से वह सब सुलझा लेता है।

-यह शो दर्शकों को क्या संदेश देना चाह रहा है?
-पहला मैसेज तो लड़कियों को लेकर है कि उन्हें किसी भी चीज में कम नहीं समझना चाहिए। अगर बढ़ावा दिया जाए तो लड़कियां हर वह काम कर सकती हैं जो लड़के कर सकते हैं और उनसे बेहतर कर सकती हैं। दूसरा मैसेज किशोर उम्र के बच्चों की अलग-अलग तरह की समस्याओं को लेकर है कि हमें उन्हें किस तरह से समझना चाहिए और कैसे उन्हें प्रोत्साहित करना चाहिए।

-अब तक आपने जितनी भी भूमिकाएं निभाईं वे सभी एक आम, गरीब परिवार के लड़के की थीं। क्या आप एक खांचे में कैद नहीं होते जा रहे हैं?
-अब जैसी इमेज है, उससे मुझे कोई शिकायत नहीं है। मेरा फोकस सिर्फ अच्छे किरदारों पर है। अब जैसे अदरक के रोल में मैंने पहली बार कॉमेडी की है और इसे करना मुझे अच्छा भी लग रहा है क्योंकि इस किरदार की कोई सीमाएं नहीं हैं। और अभी मेरी उम्र ही क्या है, आगे चल कर जब मुझे ज्यादा रोल मिलेंगे तब की तब सोचूंगा।

-‘आई एम कलाममें राष्ट्रीय पुरस्कार मिलने के बाद तो कई फिल्मों के ऑफर आए होंगे?
-ऑफर तो बहुत आए थे मगर मुझे हर ऑफर को हां नहीं करनी थी। मैं शुरू से ही सिर्फ अच्छे रोल करना चाहा और साथ ही साथ मैं अपनी पढ़ाई पर भी ध्यान देना चाहता हूं।

-बड़े पर्दे पर भी कुछ चल रहा है?
-हां, एक बहुत बड़ी फिल्म की बहुत जल्द घोषणा होगी, तब उसके बारे में बात करूंगा।

No comments:

Post a comment